top of page

टेंशन टाइप सिरदर्द   (Tension Type Headache)




हम सभी ने  कभी न कभी सिरदर्द को महसूस  ज़रूर  किया होगा, और कुछ लोग इससे परेशान भी होंगे।  सिरदर्द बहुत कारणों से हो सकता है, जिसमे से कुछ कारण सीरियस नहीं होते लेकिन परेशान बहुत करते हैं, टेंशन टाइप सिरदर्द  उन्ही कारणों में से एक है। दुनिया में  यह सिरदर्द  का सबसे मुख्य कारन है  और आजकल  इससे बहुत सारे लोग प्रभावित हैं।  टेंशन टाइप सिरदर्द  एक प्रकार का सिरदर्द है जिसमें की सिर और गर्दन के आस-पास एक स्थिर दबाव बना रहता है  यह दर्द सामान्यत: हल्का से मध्यम होता है और कुछ घंटों से लेकर कई दिनों तक रह सकता है। इस दर्द के साथ अक्सर लोग अपना काम करते रहते हैं और यह इतना तेज़ नहीं होता की लोगों के काम में बाधा बने।

 

टेंशन टाइप सिरदर्द कई कारणों से हो सकते हैं, जिनमें निम्नलिखित प्रमुख हैं:

  • तनाव (Stress)): तनाव, टेंशन टाइप हेडएक के लिए सबसे मुख्य कारण है। जब आप तनाव में होते हैं, तो आपकी मांसपेशियाँ तन जाती हैं, जिससे सिरदर्द हो सकता है। तो जब भी आपको लगे की आप तनाव में हैं और उसके बाद आपको सर दर्द शुर हो गया तो यह टेंशन टाइप सिरदर्द हो सकता है

  • खराब पोस्चर (Bad Posture) : खराब पोस्चर बनाए रखना, जैसे कि कंप्यूटर के सामने गलत तरीके से और लम्बे समय तक बैठना या फोन को  नीचे झुककर लम्बी समय तक देखना, इस प्रकार के सिरदर्द का कारण बन सकता है। ऐसा करने से मांसपेशियाँ में तनाव बन जाता है जो की सर दर्द का कारन बन सकता है

  • आई स्ट्रेन (Eye Strain): स्क्रीन पर बहुत समय बिताना या बिना ब्रेक लिए लम्बी पढ़ाई करना, आई स्ट्रेन का कारण बन सकता है, जिससे टेंशन टाइप सिरदर्द हो सकता है ।

  • मांसपेशियों की तनाव (Muscle tension): गर्दन, जबड़ा, या सर की में मांसपेशियों में किसी भी कारण  से तनाव होने से तनाव टेंशन टाइप सिरदर्द हो सकता है।

  • अच्छी नींद न मिलना (Sleep disturbances) : पर्याप्त नींद न मिलना या टूटी टूटी नींद  आना भी इस प्रकार के सरदर्द का कारण बन सकती  है।

  • डिहाइड्रेशन (Dehydration): कम पानी पीने से भी इस प्रकार का सिरदर्द हो सकता है।

  • कैफीन (Caffeine): बहुत अधिक मात्रा में कैफीन का सेवन करना सिरदर्द का कारण बन सकता है और मौजूदा सिरदर्द को बढ़ा सकता है।

  • हार्मोनल परिवर्तन (Hormonal changes): मासिक धर्म या मेनोपॉज़ के दौरान होने वाले हार्मोनल परिवर्तन से भी टेंशन टाइप सिरदर्द को ट्रिगर कर सकते हैं ।

 

टेंशन टाइप सिरदर्द इनमे से किसी एक करना या कई कारणों एक साथ होने से भी हो सकता है। इसलिए यह आवश्यक है कि उपयुक्त कारण जानने के लिए और इलाज के लिए डॉक्टर के सलाह लें

 

टेंशन टाइप सिरदर्द के मुख्य लक्षणों (Common Symptoms):

  • स्थायी दबाव या कसावट (Constant pressure or tightness): यह टेंशन टाइप सिरदर्द का सबसे मुख्य लक्षण है और इसे लोग माथे, कनपट्टी, पुरे सर या गर्दन  में दबाव या कसावट की  तरह से महसूस करते हैं , ज्यादातर लोग इसे सर के आगे वाले जैसे की माथे और उसके साइड में और सर के आगे के हिस्से में महसूस करते हैं

  • हल्के से मध्यम दर्द (Mild to moderate pain): टेंशन टाइप सिरदर्द सामान्यत: ज्यादा तेज़ नहीं होता है, यह अक्सर हल्के सिरदर्द से ले कर मध्यम दर्द तक बना रहता है और काफी परेशानी देने वाला बन सकता है 

  • कई घंटों से लेकर कई दिनों तक चलने वाला दर्द (lasts for several hours to several days): टेंशन टाइप सिरदर्द की अवधि भिन्न हो सकती है, लेकिन आमतौर पर यह कई घंटों से लेकर कई दिनों तक चलता रह सकता है।लोगों को अक्सर इस दर्द के साथ काम करने की आदत हो जाती है अगर यह लम्बे समय तक बना रहता है

  • अन्य कोई लक्षण नहीं (No other symptoms): टेंशन टाइप सिरदर्द के साथ  सामान्यत: किसी और प्रकार के  लक्षण,  जैसे की उल्टी होना या प्रकाश या ध्वनि के प्रति संवेदनशीलता, नहीं होते हैं। अगर इस प्रकार के सिरदर्द के साथ कोई और भी लक्षण है तो तुरंत ही डाक्टरी सलाह लेना जरुरी है

 

यदि आपको इनमें से कोई भी लक्षण है, तो हो सकता है की आपको  टेंशन टाइप सिरदर्द , लेकिन इस प्रकार के लक्षण दूसरी किसी और बीमारी  भी हो सकते हैं, तो आपको किसी प्रकार के सिरदर्द को इग्नोर नहीं करना चाहिए और सही करना जानने के लिए अपने डॉक्टर से जानकारी ली जिए  है।

 

टेंशन टाइप सिरदर्द का इलाज (Treatment)

  • ओवर-दा-काउंटर दर्द निवारक (Over-the-counter pain relievers): इबुप्रोफेन, एस्पिरिन, या एसेटामिनोफेन जैसे ओवर-दा-काउंटर दर्द निवारक  दवायें, सिरदर्द  को निवारण करने में प्रभावी हो सकती हैं। लेकिन इन्हे बार बार लेना नुक्सान कर सकता है, तो अगर आपको इन दवायों की बार बार जरुरत पड़ती है तो डाक्टरी सलाह जरूर लें

  • रिलैक्सेशन तकनीकें (Relaxation techniques): गहरी सांस लेना, मांसपेशियों को रिलैक्स करना, या योग जैसी रिलैक्सेशन तकनीकें स्ट्रेस को कम करने और टेंशन टाइप सिरदर्द  को निवारण करने में मदद कर सकती हैं।इस तरह की तकनीकें टेंशन टाइप सिरदर्द को होने से भी रोकती हैं

  • जीवनशैली में संशोधन (Lifestyle modifications): आपकी जीवनशैली में परिवर्तन करना, जैसे कि अपने पोस्चर में सुधार करना, तनाव को कम करना, और पर्याप्त नींद लेना, टेंशन टाइप सिरदर्द को रोकने में मदद कर सकता है।

  • फिजिकल थेरेपी (Physical therapy): फिजिकल थेरेपी, जिसमें मालिश, कायिप्रैक्टिक केयर, या पोस्चर में सुधार के लिए व्यायाम शामिल हैं, वे मांसपेशियों की तनाव को कम करने में प्रभावी हो सकती हैं, जिससे टेंशन टाइप सिरदर्द कम हो सकते हैं।

  • दर्द को रोकने के लिए दवाएं (Preventive Medications): यदि आपको अक्सर टेंशन टाइप के सिरदर्द होते हैं, तो आपके डॉक्टर दर्द को रोकने के लिए दवाएं दे सकते हैं। इन दवाओं में ट्राइसाइक्लिक एंटीडिप्रेसेंट्स, बीटा-ब्लॉकर्स, और एंटीकंवल्सेंट्स शामिल हैं।

 

सिरदर्द क्यूंकि बहुत कारणों से हो सकता है और कुछ कारण गंभीर भी हो सकते  हैं इसलिए यह जरुरी है की यदि आपको अक्सर या गंभीर सिरदर्द बना रहता  है, तो डॉक्टर से बात जरूर करें  है, क्युकी सही इलाज़ के लिए पहले करना जानना जरुरी है  वे आपके सिरदर्द के पीछे के कारण का पता लगा सकते हैं और आपकी व्यक्तिगत आवश्यकताओं के लिए सबसे प्रभावी उपचार सुझा सकते हैं।

 

Comentários


Featured Posts
Recent Posts
Archive
Search By Tags
Follow Us
  • Facebook Basic Square
  • Twitter Basic Square
  • Google+ Basic Square
bottom of page