टाइफाइड बुखार

 

टाइफाइड बुखार 

 

टाइफाइड बुखार दूषित भोजन या पानी में मिलने वाले एक बैक्टीरिया (bacteria), सलमोनेला टाइफी (Salmonella Typhi) के कारण होता है ।

टाइफाइड का इलाज  एंटीबायोटिक (Antibiotics )दवाओं के साथ इलाज किया जाता है ।

टाइफाइड इन्फेक्शन होने लगभग एक से दो सप्ताह ( 2 weeks) बाद बीमारी की लक्षण शुरू हो जाते है ।

और बीमारी की अवधि लगभग चार से छह सप्ताह (4-6 weeks)होती है ।

 

टाइफाइड बुखार कैसे होता है?

टाइफाइड का बुखार बैक्टीरिया (Bacteria) से दूषित भोजन खाने या पानी (Infected food and water) पीने होता है। बैक्टीरिया पानी या सूखे मल में कई सप्ताह के लिए जीवित रह सकता सकता है । इसलिए अगर पानी को ठीक से साफ़ नहीं किया जाता है और खाना पकाने या पीने में इसका उपयोग किया जाता है, तो यह इन्फेक्शन (Infection) फैल सकता है।

 

 

टाइफाइड के बुखार के लक्षण:-

  • काम भूख लगना (decrease appetite)

  • दस्त या कब्ज (Lose motion or constipation)

  • पेट दर्द (stomach ache)

  • सिर दर्द (headache)

  • शरीर में दर्द (Bodyache)

  • बुखार: जो अक्सर तेज़ होता है (103 F-104 F) (High Fever)

  • सुस्ती (Fatigue)

  • मलाशय से खून (Blood in stool)

  • बेहोशी या बह्कापन (Unconsciousness or confusion )

  • छाती और पेट पर  गुलाबी स्पॉट (Rashes)

 

 

कई रोगियों को फेफड़ो (Lungs) में भी परेशानी होती है और पेट में दर्द  आम  है । बुखार अक्सर लम्बा चलता है और तीसरे और चौथे सप्ताह में सुधार आने लगता है ।

 

क्या टाइफाइड बुखार को रोकना संभव है?

टाइफाइड बुखार से  बचने के लिए टाइफाइड टीके (Typhoid vaccine) अब उपलब्ध हैं । वैक्सीन के प्रकार के आधार पर, केवल दो से पांच साल तक की रक्षा करता है। ओरल वैक्सीन, कम इम्युनिटी (immunity) वाले लोगों को नहीं लेनी चाहिए ।

 

टाइफाइड बुखार के लिए उपचार (Treatment) क्या है?

टायफाइड बुखार का इलाज एंटीबायोटिक (Antibiotics) दवाओं के साथ किया जाता है जो  बैक्टीरिया को मारती हैं।  उचित एंटीबायोटिक थेरेपी (anitbiotics Therapy) के साथ, आमतौर पर एक से दो दिनों के भीतर सुधार शुरु हो जाता  है और 7 से 10 दिनों के भीतर ठीक होती है । लगभग 10% रोगियों में इलाज के बावजूद, एक या दो सप्ताह के लिए बेहतर महसूस करने के बाद  टाइफाइड के लक्षण दुबारा शुरू हो जाते  हैं । अगर टाइफाइड  के लक्षण दुबाराआते है तो  एंटीबायोटिक्स दुबारा लेनी चाहिये ।

 

कुछ लोगो में टाइफाइड बैक्टीरिया (Bacteria) कैर्रिएर स्टेट (Carrier State) में  बना रहता है, इस स्थिति में लम्बे समय तक  लिए एंटीबायोटिक (Antibiotics) लेनी चाहिए । अक्सर संक्रमण (Infection) को ठीक करने के लिए   गाल  ब्लैडर (Gall Bladder) को हटाना पड़ता है , जोकि  संक्रमण (Infection) की साइट है ।

 

लक्षण ख़तम होने बाद भी टाइफाइड बुखार का खतरा खत्म नहीं होता है अगर आपके लक्षण खत्म हो गए हैं, अभी भी बैक्टीरिया आपके शरीर में हो सकता है और आप इस रोग को अन्य लोगों तक फैला  सकते हैं ।

 

यदि आपको टाइफाइड बुखार है तो इन बातों का ध्यान रखें

  • निर्धारित एंटीबायोटिक दवाइयां लेते रहें, जब तक डॉक्टर ने उन्हें लेने के लिए कहा है।

  • बाथरूम का उपयोग करने के बाद साबुन और पानी के साथ अपने हाथों को ध्यान से धोएं ।

  • अन्य लोगों के लिए भोजन तैयार न करें और ना ही  परोसें । इससे आप दूसरों में संक्रमण (Infection) फैलने से रोक सकते हैं।

 

बुखार (टाइफाइड) के कारन शरीर में ऊर्जा (Energy) और प्रोटीन (protein) की जरूरत बढ़ जाती है और खाने का मन भी काम करता है इसलिए कुछ बातों का धयान देना चाहिए

  • आहार पचाने में आसान होना चाहिए ।

  • कम अंतराल पर भोजन करें, क्योंकि यह न केवल मतली (Nausea) को रोकने में मदद करेगा, लेकिन दिन में कैलोरी (Calories) का सेवन बढ़ाने में भी मदद करेगा ।

  • बुखार में पसीना के कारन शरीर से बहुत अधिक पानी की कमी होती है । इसलिए पानी और इलेक्ट्रोलाइट  (electrolytes) नुकसान को कम करने के लिए, कम अंतराल पर पर्याप्त मात्रा में  तरल (Liquids) चीज़े लेनी चाहिए ग्लूकोज पानी, नारियल का पानी, गन्ना का रस और फलों के रस, यह पानी और इलेक्ट्रोलाइट्स की कमी पूरी करने के साथ कुछ कैलोरी प्रदान कर सकते हैं ।

 

Share on Facebook
Share on Twitter
Please reload

Featured Posts

Human Corona Viruses

April 2, 2020

1/5
Please reload

Recent Posts

September 26, 2019

July 19, 2019