top of page

तनाव के लक्षण और उपचार

तनाव के लक्षण

तनाव आपके जीवन के सभी पहलुओं को प्रभावित कर सकता है, आपकी भावनाओं, व्यवहार, सोचने की क्षमता और शारीरिक स्वास्थ्य। शरीर के सभी हिस्से तनाव से प्रभावित होते हैं , लेकिन लोगों में तनाव को संभालने या उससे लड़ने का की क्षमता भिन्न होती है, और इसीलिए तनाव के लक्षण भी भिन्न हो सकते हैं। तनाव के लक्षण अस्पष्ट ( नॉनस्पेसिफिक) या किसी बीमारी के लक्षणों से मिलते जुलते हो सकते हैं, इसलिए यह जरुरी है की आप उन्हें अपने डॉक्टर के साथ जरूर चर्चा करें।



तनाव के निम्नलिखित लक्षणों में से आपको किसी का भी अनुभव हो सकता है।


तनाव के भावनात्मक लक्षण :

  1. आसानी से उत्तेजित हो जाना ,बेचैन, निराश और मूडी होना

  2. नियंत्रण खोना या दूसरों पर नियंत्रण लेने की जरूरत महसूस होना

  3. मन को शांत रखने में कठिनाई होना

  4. छोटी छोटी बातों में चिंता करना या परेशान होना

  5. विचारों का जल्दी जल्दी बदलना या ध्यान केंद्रित करने में परेशानी

  6. जल्दी भूल जाना या याद रखने में दिक्कत होना

  7. फैसले लेने में परेशानी

  8. निराशावादी होना या केवल नकारात्मक पक्ष को सोचना

  9. अपने बारे में बुरा (कम आत्मसम्मान) सोचना, अकेला, बेकार और उदास महसूस करना

  10. दूसरों से बचना

  11. जिम्मेदारियों से बचना



तनाव के शारीरिक लक्षण

  1. थकान महसूस करना

  2. सिरदर्द

  3. दस्त, कब्ज और मतली या पेट की ख़राबी होना

  4. भूख में परिवर्तन - काम या बहुत ज्यादा खाना

  5. शारीरिक दर्द, और मांसपेशियों में तनाव होना

  6. सीने में दर्द और दिल की धड़कन तेज़ होना

  7. अनिद्रा या सोने में मुश्किल होना

  8. लगातार जुकाम और संक्रमण (इन्फेक्शन )

  9. यौन इच्छा या क्षमता का कम होना

  10. घबराहट, शरीर में कम्पन या कान में झुंजुनी होना

  11. ठन्डे या पसीने से तर हाथ और पैर

  12. अत्यधिक पसीना आना

  13. मुँह सुखना या निगलने में कठिनाई

  14. जबड़ो का भींचना और दांत पीसना


लंबे समय तक रहने वाले तनाव के परिणाम

थोड़ा बहुत तनाव होना एक साधारण बात है और उसके लिए चिंतित होने की जरुरत नहीं है। लेकिन लंबे समय तक रहने वाला तनाव कई गंभीर स्वास्थ्य समस्याओं को बढ़ा सकता है

  1. मानसिक स्वास्थ्य समस्या जैसे की डिप्रेशन, एंग्जायटी और पर्सनालिटी डिसऑर्डर (व्यक्तित्व विकार)

  2. उच्च रक्तचाप ( हाई ), दिल का दौरा, ब्रेन स्ट्रोक

  3. मोटापा

  4. मासिक धर्म समस्याओं

  5. यौन इच्छा की कमी

  6. त्वचा और बालों की समस्याएं, मुँहासे, सोरायसिस, एक्जिमा

  7. एसिडिटी, गैस्ट्राइटिस, अल्सरेटिव कोलाइटिस जैसी पेट सम्बंदित समस्याएं


तनाव से कैसे बचें और तनाव का उपचार

1. एक स्वस्थ और संतुलित जीवन शैली अपनाएं

2. विश्राम और मनोरंजन के लिए समय निकालिये

1. विश्राम के लिए अलग से समय निकालिये

2. हर दिन कुछ ऐसा करिये जिससे आपको आनंद मिले

3. लोगों से मेलजोल बढ़ाये

1. जहाँ आप काम करतें हैं वहाँ पर सहयोगियों के साथ मेजजोल बड़ाइये

2. स्वयं किसी और की मदद करें

3. दोस्त के साथ दोपहर का भोजन या कॉफी लें

4. फिल्मों या संगीत कार्यक्रम के लिए किसी के साथ जाईये

5. पुराने दोस्त को कॉल या ईमेल करे

6. किसी दोस्त के साथ टहलने या कसरत के लिए जाएं

7. नए लोगों से मिले, उसके लिए कोई क्लास या ग्रुप ज्वाइन करे

4. तनाव से बचने के लिए शुरू की गई अपनी अस्वस्थ आदतों को बदलें

5. उन आदतों और व्यवहार को पहचानें जिनसे तनाव होता है

6. तनाव से बचने के लिए कुछ आदतें अपने स्वभाव में लाएं जैसे की –

1. अनावश्यक तनाव से बचें

2. जो लोग आपको तनाव देते हैं, उनसे बचें

3. उन स्थितियों को बदलें जो तनाव का कारन हैं

4. तनाव के साथ सामंजस्य स्थापित करने की कोशिश करें

5. जिन चीजें आप बदल नहीं सकते,उन्हें स्वीकारें

6. लोगों को माफ करना सीखें

7. अपनी भावनाओं को मन में रखने की बजाय व्यक्त करना सीखें

8. स्थितियों से समझौता करना सीखें

9. अपनी बात कहना सीखें


Comments


Featured Posts
Recent Posts
Archive
Search By Tags
Follow Us
  • Facebook Basic Square
  • Twitter Basic Square
  • Google+ Basic Square
bottom of page